Wednesday, June 29

आप कैसे खरीद सकते हैं अपना द्बीप, जानें कीमत, किन बातों का रखें ध्यान

[ad_1]

विवादित धर्मगुरु नित्यानंद दुष्कर्म मामले में भगोड़ा घोषित है। कानूनी कार्रवाई और सजा से बचने के लिए उसने अब दक्षिण अमेरिकी देश इक्वाडोर के पास एक द्वीप खरीद लिया है और वहां नया देश ‘कैलासा’ बसाया है। नित्यानंद का विवादों से पुराना नाता है। सोशल मीडिया पर भी नित्यानंद के वीडियो काफी देखे जाते हैं। एक वीडियों में नित्यानंद ने दावा किया था कि वो किसी भी जानवर से संस्कृत और तमिल में बात कर सकता है और उसने सूरज को 40 मिनट तक रोक कर रखा था।

खैर.. हम यहां आपको खास तौर पर द्वीप के बारे में बता रहे हैं। चारों ओर पानी के बीच धरती का एक भाग। शांति और प्रकृति का अद्भुत मेल। किसी द्वीप पर छुट्टियां मनाने की ख्वाहिश तो हर किसी की होती है। लेकिन अगर आपको मौका मिले तो क्या आप किसी द्वीप को खरीदना चाहेंगे? अगर हां, तो आज हम आपको बातएंगे कि आप कैसे और कहां से अपने मन का द्वीप खरीद सकते हैं? अपना द्वीप खरीदते समय आपको किन बातों का ध्यान रखना चाहिए?

किसी द्वीप को खरीदने की प्रक्रिया किसी अन्य प्रकार की भूमि खरीदने जैसी ही होती है। पर इसमें आपको और कई चीजों पर ध्यान रखने की जरूरत होती है। जैसे मुख्य भूमि से द्वीप की दूरी और अन्य बुनियादी सुविधाएं।

कितने में मिलेगा एक द्वीप?

द्वीप खरीदने के लिए आपको करोड़पति होने की जरूरत नहीं है। ये कीमत कई शहरों में सामान्य स्तर का घर खरीदने से भी कम हो सकती है। मीडिया रिपोर्टस के अनुसार जो लोग छुट्टियों और शांति के लिए द्वीप खरीदना चाहते हैं, उनके लिए इसके कीमत एक लाख डॉलर या 70 लाख रुपये के आसपास भी हो सकती है

द्वीप खरीदने से पहले इन चीजों का रखें ध्यान?  

सबसे पहले तो आप ये सोच लें कि आपको द्वीप किस प्रयोजन के लिए खरीदना है। आपको अपने परिवार और दोस्तों के साथ छुट्टियां मनाने के लिए द्वीप खरीदना है या आप द्वीप पर कोई व्यवसायिक गतिविधि करना चाहते हैं।

क्षेत्रफल : अगर आप निजी उद्देश्य से द्वीप खरीदना चाहते हैं तो इसके लिए आपको ज्यादा क्षेत्रफल का द्वीप खरीदने की जरूरत नहीं होगी। पर अगर आप किसी व्यावसायिक उद्देश्य से द्वीप खरीदने का विचार कर रहे हैं तो आपको ज्यादा क्षेत्रफल की जरूरत होगी। इसके लिए आपका बजट भी ज्यादा चाहिए।

स्थान :

चाहे आप निजी उपयोग के लिए द्वीप खरीदें या व्यावसायिक उपयोग के लिए। ये किस स्थान पर स्थित है, यह सबसे महत्वपूर्ण घटक होता है। आपको यह भी ध्यान में रखना होगा कि जिस जगह पर आपका द्वीप है वहां का मौसम कैसा है, मुख्य भूमि से द्वीप कितनी दूरी पर है, आपातकाल स्थिति से निपटने के क्या इंतजाम हैं?

स्थानीय लोग :

  • अगर आप व्यावसायिक उद्देश्य से द्वीप खरीदने जा रहे हैं तो आपको जांच कर लेना चाहिए कि वहां के स्थानीय नागरिकों को इससे कोई परेशानी नहीं हो। वरना कई बार ऐसा देखा गया है कि कंपनी मोटी रकम देकर जमीन खरीद लेती है। जिसके बाद स्थानीय लोगों के आंदोलन और विरोध के चलते उन्हें लौटना पड़ता है।
  • दूसरा ये कि स्थानीय लोग आपके काम के हों। यानी वो आपके व्यवसाय के लिए उपयोगी हों। अगर ऐसा नहीं हुआ तो आपको काम के लिए बाहर से लोग लाने पड़ेंगे और इससे आपका खर्च बढ़ जाएगा।

मूलभूत सुविधाएं : 

  • मूलभूत सुविधाओं के लिए आपको 100 प्रतिशत आत्मनिर्भर होना होगा।
  • ऊर्जा के लिए आप सोलर पैनल का इस्तेमाल कर सकते हैं।
  • कूड़ा प्रबंधन के लिए जैविक सीवेज का सहारा लिया जा सकता है।
  • पानी के लिए कुएं और इंटरनेट के लिए सैटेलाइट की जरूरत होगी।
  • खारे पानी के द्वीप पर आप अलवणीकरण (डीसेलिनेशन) के साथ एक कुए का इंतजाम कर सकते हैं।

यहां आपको मिलेगा अपने सपनों का द्वीप :

  • सेंट्रल अमेरिका
  • स्कॉटलैंड
  • आयरलैंड
  • स्वीडन
  • कनाडा
  • बहामास
  • इटली
  • थाईलैंड
  • पनामा

इन हस्तियों के पास भी है खुद का द्वीप :

  • माइक्रोसॉफ्ट के संस्थापक पॉल एलन
  • ओरेकल के संस्थापक लैरी एलिसन
  • वर्जिन ग्रुप के चेयरमैन रिचर्ड ब्रैनसन
  • अभिनेता लियोनार्डो डिकैप्रियो