Saturday, July 2

आरोपियों के ढेर होने के बाद छात्राओं ने इस तरह जताई खुशी

[ad_1]



हैदराबाद की महिला पशु चिकित्सक के साथ हैवानियत करने वाले चारों आरोपियों को पुलिस ने मुठभेड़ में ढेर कर दिया है। पुलिस इन सभी को क्राइम सीन रीक्रिएट करने के लिए लेक गई थी। जहां उन्होंने भागने की कोशिश की। पुलिस ने उन्हें रोकने के लिए गोली चलाई। जिसमें उनकी मौत हो गई। 
27 नवंबर को आरोपियों ने मदद के बहाने पीड़िता के साथ पहले सामूहिक दुष्कर्म किया। उसके बाद हत्या करके शव को आग के हवाले कर दिया। 28 नवंबर को महिला चिकित्सक का शव मिलने के बाद से पूरे देश में जन आक्रोश दिखाई दे रहा था। सड़क से लेकर संसद तक सभी आरोपियों को फांसी की सजा दिए जाने की मांग कर रहे थे।

शुक्रवार सुबह पुलिस जब उन्हें क्राइम सीन रीक्रिएट करने के लिए लेकर गई तो उन्होंने भागने की कोशिश की। जिसके बाद पुलिस ने उन्हें रोकने के लिए गोली चलाई और उनकी मौत हो गई। आरोपियों की मौत पर सभी ने खुशी जाहिर की है। छात्राओं ने बस से चिल्लाते हुए अपनी खुशी का इजहार किया। इस दौरान थम्स अप भी दिखाया।

अब बेटी की आत्मा को मिलेगी शांति

पशु चिकित्सक के पिता ने पुलिस मुठभेड़ में मारे गए चारों आरोपियों पर कहा, ‘मेरी बेटी की मौत को दस दिन हो चुके हैं। मैं इसके लिए पुलिस और सरकार के प्रति आभार व्यक्त करता हूं। अब मेरी बेटी की आत्मा को शांति मिलेगी।’

पुलिस ने किया है बहुत अच्छा काम 

निर्भया की मां आशा देवी ने हैदराबाद के आरोपियों की पुलिस मुठभेड़ में मौत पर कहा, ‘मैं इस तरह की सजा से बहुत खुश हूं। पुलिस ने बहुत अच्छा काम किया है और मैं माग करती हूं कि पुलिस अधिकारियों के खिलाफ कोई कार्रवाई न की जाए। पिछले सात सालों से मैं न्याय के लिए हर दरवाजे को खटखटा रही हूं। मैं इस देश और सरकार की न्याय प्रणाली से अपील करती हूं कि निर्भया के दोषियों को जल्द से जल्द मौत की सजा दी जाए।’