Wednesday, June 29

ऐसे खत्म करें पैन्क्रियाटिक कैंसर, मिल रहे खुशी के संकेत

[ad_1]

पैन्क्रियाटिक कैंसर के लिए अभी तक कोई ऐसा इलाज वैज्ञानिक नहीं खोज पाए हैं कि इसे जड़ से खत्म किया जा सके। एक बार इस कैंसर के डाइग्नॉज होने के बाद पेशंट को भी पता होता है कि उसके पास अब जिंदगी के मात्र 5 साल बचे हैं। क्योंकि आमतौर पर पैन्क्रियास कैंसर के रोगी 5 साल की लाइफ ही जी पाते हैं। लेकिन हाल ही हुए एक ताजा शोध ने लोगों में इस कैंसर से लड़ने के लिए उम्मीद जगा दी है।

एक ताजा रिसर्च में शोधकर्ताओं ने ऐसी तकनीक का पता लगाया है, जिसमें पैन्क्रियास कैंसर सेल्स खुद को ही खत्म करने लगती हैं। यह स्टडी हाल ही Oncotarget जर्नल में प्रकाशित हुई है। इस तकनीक के परीक्षण में एक महीने के अंदर ही ट्यूमर में डिवेलप सेल्स 90 प्रतिशत तक कम हो गईं थी।

इस रिसर्च के बारे में बात करते हुए रिसर्चर मलाका कोहेन-अरमन कहते हैं कि साल 2017 में प्रकाशित एक स्टडी में एक ऐसे मोलेक्यूल के बारे में बताया गया था, जो बिना नॉर्मल सेल्स को नुकसान पहुंचाए सिर्फ कैंसर सेल्स को खत्म करने का काम करता है। कोहेन-अरमन इजरायल में तेल अवीव यूनिवर्सिटी से एसोसिएटेड हैं। ये आगे बताते हैं कि उस स्टडी पर ध्यान केंद्रित करते हुए हमने पैन्क्रियास कैंसर सेल्स पर काम करना शुरू किया और शोध में इसके नतीजे बहुत ही सकारात्मक मिले।