ऑस्कर में भारत की आधिकारिक फिल्म न्यूटन होगी

दुनिया के सबसे प्रतिष्ठित फिल्‍म पुरस्‍कार ऑस्‍कर के लिए भेजी जाने वाली आधिकारिक फिल्‍म की घोषणा हो गई है। ऑस्‍कर में भारत की ओर से फिल्‍म न्‍यूटन को भेजा जाएगा।

आपकी जानकारी के लिए बता दें कि फिल्‍म न्‍यूटन रिलीज होने से पहले ही कई अंतर्राष्‍ट्रीय फिल्‍म पुरस्‍कार जीत चुकी है। अंतर्राष्‍ट्रीय फिल्‍म समारोहों में इस फिल्‍म को खूब सराहा गया है।

एफएफआई की सिलेक्‍शन कमेटी ने सर्वसम्‍मति से चुना न्‍यूटन को :

ऑस्‍कर में भारत की ओर से कौन सी फिल्‍म भेजी जाए। इस बारे में एफएफआई की सिलेक्‍शन कमेटी के सदस्‍य पूरी तरह एक मत थे।

उन्‍होंनें निर्देशक अमित मासुरकर की फिल्‍म न्‍यूटन को सर्वसम्‍मति से ऑस्‍कर में भेजने का निर्णया लिया। न्‍यूटन ने 26 अन्‍य फिल्‍मों को पछाड़ कर यह बाजी जीती है।

यह फिल्‍म इसी शुक्रवार को रिलीज हुई है। फिल्‍म के अभिनेता राजकुामार राव ने रिलीज के मौके पर इसे ऑस्‍कर के लिए भेजे जाने की घटना को सोने पर सुहागा करार देते हुए खुशी जताई है।

न्‍यूटन ने भारत की बहुचर्चित फिल्‍म बाहुबली को पछाड़ कर यह सम्‍मान हासिल किया है। यह वाकई गर्व की बात है।

अमित मासुरकर ने न्‍यूटन को ऑस्‍कर के लिए चुने जाने के बाद क्‍या कहा?

                        

फिल्‍म के निर्देशक अमित मासुरकर न्‍यूटन की इस सफलता से बहुत खुश हैं। उन्‍होंनें कहा कि फिल्‍म को ऑस्‍कर के लिए भेजा जाना उनके लिए दोहरी खुशी है।

अब हम न्‍यूटन को ऑस्‍कर में आगे ले जाने के लिए पूरी ऊर्जा लगा देंगें। आशा है कि ऑस्‍कर ज्‍यूरी को भी यह फिल्‍म जरूर पसंद आएगी।

फिल्‍म न्‍यूटन की कहानी लोकतंत्र और नक्‍सल प्रभावित क्षेत्रों के इर्दगिर्द घूमती है :

राजकुमार राव अभिनीत यह फिल्‍म देश के लोकतंत्र और नक्‍सल प्रभावित इलाकों से प्रभावित है। इस फिल्‍म में हीरो को उस इलाके में चुनाव अधिकारी बनाकर भेजा जाता है। जहां कोई भी जाना नहीं चाहता।

इस फिल्‍म में व्‍यवस्‍था पर गहरे कटाक्ष और व्‍यंग्‍य किए गए हैं और स्‍वतंत्र और निष्‍पक्ष चुनाव कराने वाले चुनाव अधिकारी के आसपास घूमती रहती है।

इस फिल्‍म में छत्‍तीसगढ़ के नक्‍सल प्रभावित इलाकों को दिखाया गया है। यह फिल्‍म कमर्शियल फिल्‍म कम बल्कि एक कला फिल्‍म ज्‍यादा दिखाई पड़ती है।

maalaxmi