जलने पर तुरंत अपनाए यह घरेलु नुस्खे और उपाय।

खाना बनाते या किसी गर्म चीज का इस्तेमाल करते वक्त हम जल जाते है जिससे हम बहुत अधिक दर्द होता है और कई बार फफोले भी पड़ जाते है | जलने पर किसी तरह की दवाई लेने से बेहतर है की आप घरेलू चीजो का इस्तेमाल करे क्योकि इनमे बढ़िया एंटी सेप्टिक गुण होता है जो की जलने पर तुरन राहत देता है और क्षतिग्रस्त हुई कोशिकाओं की मरम्मत करता है | आइये जानते है जलने के घरेलू इलाज |

कच्चे आलू अपने एंटी इरिटेटिंग स्वभाव के कारन जलन में बहुत सहायक होता है | जल जाने पर कच्चे आलू को एक पीस को काट कर उस जगह रगड़े जहाँ आप जले है और ध्यान रखे की आलू का रस उस जगह लगे | ऐसा लगातार 15 मिनट करने से आपकी जलन शांत हो जायेगी और धीरे धीरे जलने में आराम मिलेगा |

एलोवेरा कोशिकाओं की बहुत जल्द मरम्मत करता है और उन्हें कार्य योग्य बनाता है | जल जाने की स्थिति में एलोवेरा जेल को उस प्रभावित जगह में लगायें जिससे आराम मिलेगा | इसके अलावा आप एलोवेरा में हल्दी मिलकार भी लगा सकते है और आपके पास एलोवेरा का पौधा उपलब्ध नहीं है तो किसी ऐसी क्रीम का इस्तेमाल करे जिसमे घटक के रूप में एलोवेरा मौजूद हो |

नारियल के तेल में विटामिन E के साथ साथ लोरिक एसिड और मैरीस्टिक एसिड पाया जाता है जो की जलन को शांत करके आराम पहुचाते है | जल जाने पर एक चम्मच नारियल के तेल में आधा नीम्बू का रस निचोड़े और उसे प्रभावित जगह में लगायें जिससे आराम मिलेगा और यह आप हर तीन घंटे में करे जिससे घाव ठीक भी होने लग जाएगा |

लैवेंडर का तेल एक अच्छा एंटी सेप्टिक होता है और इसमें जलन कम करने के गुण भी होते है | जल जाने पर एक कप पानी में चार बूँद इस तेल को मिलाएं और एक को इसमें डुबाकर इसे जलने वाली जगह में लगायें जिससे आराम मिलेगा | आप सीधे लैवेंडर का तेल भी इस्तेमाल कर सकते है |

प्याज का रस एक गुणकारी औषधि है और इसमें एंटी बैक्टीरियल गुण के साथ साथ दर्द कम करने की भी कला होती है | एक ताजे प्याज को काटे और उसका रस निकाले और प्रभावित जगह में लगायें जिससे आपको आराम मिलने लग जाएगा | ध्यान रखे ताजे प्याज का ही  इस्तेमाल करे क्योकि कटने के कुछ समय बाद ही प्याज अपने औषधीय गुण खो देता है |

maalaxmi