जानिए नाश्ते में फ्रूट जूस पीना क्यों है शरीर के लिए हानिकारक


लाइफस्टाइल  ; अगर हम रिसर्च की बात करें तो तथ्य जानकर आप हैरान हो जायेंगे क्योंकि फ्रूट जूस पीने से आपको टाइप 2 डायबिटीज होनी की संभावना बढ़ जाती है।आपको बता दें कि फ्रूट जूस में कम मात्रा में फाइबर होते हैं और ज्यादा मात्रा में शुगर होता है। शोधकर्ता डायबिटिक लोगों को यह सलाह देते हैं कि उन्हें ज्यादा शुगर वाले पेय पदार्थों को फ्रूट जूस से नहीं बदलना चाहिए क्योंकि दोनों ही में शुगर की मात्रा ज्यादा होती है। आइये जानते हैं कि फ्रूट जूस कैसे डायबिटीज को बढाता है?

वैज्ञानिकों के अनुसार फ्रूट जूस का सेवन करने से डायबिटीज होने खतरा बढ़ जाता है। फ्रूट जूस पीने से बजाय इसके कि आपको जरुरी न्यूट्रीयेंट्स मिलें, केवल उसमे मौजूद शुगर ही तेजी से आपके ब्लड शुगर को बढाता है।

हालांकि दूसरी तरफ फल और पत्तेदार सब्जियों को को ऐसे ही खाने से आपको डायबिटीज होने को संभावना को कम होती है क्योंकि इसमें बहुत अधिक मात्रा में फाइबर और माइक्रोन्यूट्रीयेंट्स पाए जाते हैं।

फ्रूट जूस को बनाते समय इसमें मौजूद सारे फाइबर को निकाल दिया जाता है जिससे आप एक बार में ज्यादा मात्रा में जूस पी लेते हैं। इसलिए शोधकर्ता कहते हैं दिन भर में केवल एक गिलास फ्रूट जूस पीना अच्छा होता है। वैज्ञानिक कहते हैं कि हम लोगों को ये अच्छे से पता होता है कि हमें ज्यादा मात्रा में शुगर इन फलों के जूस से मिलता है इसलिए इन्हें दूर रखना चाहिए। आइये जानते हैं कि टाइप 2 डायबिटीज के क्या लक्षण होते हैं? ज्यादातर लोगों को इसके बारे में कुछ पता नहीं चलता है, इसलिए जब आपको ज्यादा प्यास लगे, बहुत ज्यादा थकावट महसूस हो, तेजी से वजन कम हो और आँखों से धुंधला दिखाई दे तो आपको डॉक्टर को दिखाना चाहिए क्योंकि ये सारे लक्षण टाइप 2 डायबिटीज के ही लक्षण होते हैं।

इस बीमारी की सबसे बड़ी खराबी यह है कि इसको ठीक नहीं किया जा सकता है केवल इसके लक्षणों को कम किया जा सकता है। इसके लिए आपको अपनी लाइफस्टाइल बदलनी होगी, वजन कम करना होगा, रोजाना एक्सरसाइज करना होगा और संतुलित डाइट लेना होगा।

maalaxmi