जिम्बाब्वे से हार पर बौखलाए पाकिस्तानी, शोएब अख्तर बोले- भारत भी तीस मार खां नहीं

जिम्बाब्वे से हार पर बौखलाए पाकिस्तानी, शोएब अख्तर बोले- भारत भी तीस मार खां नहीं

टी20 वर्ल्ड कप 2022 में पाकिस्तान टीम को जिम्बाब्वे के खिलाफ एक रन से करारी शिकस्त झेलनी पड़ी है. पर्थ में मिली इस हार के बाद पूर्व पाकिस्तानी क्रिकेटर्स शोएब अख्तर, आकिब जावेद, मोइन खान, वकार यूनुस और मिस्बाह उल हक समेत सभी में गुस्सा भरा है. सभी ने अपनी भड़ास निकाली.

इस बीच पूर्व तेज गेंदबाज शोएब अख्तर इस हार से इतने बौखला गए कि उन्होंने भारतीय टीम को भी कमजोर समझ लिया है. उन्होंने कहा कि भारतीय टीम भी कोई तीस मार खां नहीं है. वह भी सेमीफाइनल खेलकर अगले हफ्ते वापस आ जाएगी.

शोएब अख्तर ने अपने यूट्यूब चैनल पर कहा, ‘ये हार बेहद दुख पहुंचाने वाली है. आपको नहीं, हमें मीडिया फेस करना पड़ता है. भारत में बैठना पड़ता है. दुनिया को जवाब देना पड़ता है. अब इस परफॉर्मेंस के बाद क्या जवाब देंगे. यह शर्मनाक और निराशाजनक है. अब पाकिस्तानी कह रहे हैं कि साउथ अफ्रीका से जीतें, उससे हारे, उससे जीतें. आपने खुद को इस हालात में रखा ही क्यों है?’

उन्होंने कहा, ‘इंडिया को आपने जीता जिताया मैच प्लेट में रखकर दे दिया. जीता जिताया मैच भारत को दे दिया. क्यों बाबर आजम ने गणित नहीं लगाया… क्यों मैनेजमेंट ने कोशिश नहीं की कि आखिरी ओवर में मोहम्मद नवाज (स्पिनर) से आखिरी ओवर नहीं कराना है. वो आखिरी ओवर के लिए है ही नहीं. बेहद निराशाजनक है ये.’

अख्तर ने कहा, ‘मैंने पहले ही कहा था कि इस हफ्ते पाकिस्तान वापस आ जाएगी. अगले हफ्ते भारत भी वापस आ जाएगी. वो भी सेमीफाइनल खेलकर वापस आ जाएगी. वो भी कोई इतने तीस मार खां नहीं है. हम तो बिल्कुल ही… मैं क्या बोलूं. मेरे अंदर इतना गुस्सा है कि कुछ मुंह से ना निकल जाए.’

आकिब जावेद ने जिओ सुपर चैनल पर कहा, ‘इससे अफसोसनाक क्या हो सकता है? यह मैच 13-14 ओवर में खत्म करना चाहिए था. जिस तरह से मोहम्मद रिजवान खेल रहा था.. मैं तो हैरान हो गया हूं कि हैदर अली को तो… क्या सीधा बॉल रोकना भी नहीं सिखाया उसे, और सीधे पाकिस्तान टीम तक पहुंचा दिया. आपकी टेकनिक ही नहीं हैं. सीधी बॉल रोकते हुए आउट हो गए. ये उसे पिछले 5-6 महीने से साथ लिए फिर रहे हैं. क्या ये नेट्स में भी खेलते हुए नहीं देखते हैं क्या?’

मोइन खान ने जिओ सुपर चैनल पर कहा, ‘जब तक आप सेलेक्शन में इंसाफ नहीं करेंगे, तब तक टीम अच्छा नहीं करेगी. कोई भी प्लेयर हो, उसकी तरफदारी ना करें. कोई प्लेयर खुद सेलेक्ट नहीं होता या किसी को गन पॉइंट पर रखकर सेलेक्शन नहीं करवाता. रमीज राजा का सेलेक्शन में कोई रोल नहीं है, लेकिन मंजूरी तो वही देते हैं ना.’

maalaxmi