धनतेरस के दिन इन् चीज़ो को घर लाने से धन के देवता कुबेर जी की कृपा आप पर बनी रहेगी

दिवाली से पहले धनतेरस पर चीजें  खरीदना लाभदायक माना जाता है। इस अवसर पर सोना और चांदी खरीदना ज्यादा शुभ होता है। भारत में इस अवसर की कई मान्यता है जैसे इस दिन खरीदी गई वस्तु में 13 गुनी वृद्धि होती है। हम में से सब लोग चाहते हैं की मां लक्ष्मी की कृपया हम पर से बनी रहे।

आज हम बात कर रहे है धनतेरस के दिन ऐसी कौनसी चीज़े खरीदनी चाहिए जिसकी वजह से आपका भाग्य 15 गुना जायदा प्रबल हो जाता है. धनतेरस के सुभ मौके पे ख़रीदे यह वस्तुए।

धनतेरस के दिन भगवान गणेश और लक्ष्मी की मूर्ति जरूर खरीदनी चाहिए क्युकी किसी भी पूजा से पहल गणेश जी की पूजा होता है और सुभ लाभ भी होता है।

कोई भी धातु की वास्तु लेन के लिए धनतेरस से अच्छा कोई भी दिन नहीं होता. इस दिन कोई धातु वाली चीज़ लाने से आपको फायदा ही होगा।

अस्फटिक का श्रीयंत्र भी लेना चाहिए क्युकी यह यन्त्र लाने से लक्ष्मी घर की और आकर्षित होती है और हमेशा धन का लाभ होता है. स यन्त्र की पूजा के बाद इससे केरसरिया कपडे में बांधकर तिजोरी में रख ले।

धनतेरस के दिन एक नयी झाडू घर लानी चाहिए इससे घर में नकारात्मक शक्तिया घर से दूर होती है। और साफ़ सुतरे घर में हमेशा लक्ष्मी का वास होता है।

कहा जाता है की कौड़ी घर में रखने से उस घर में कभी भी धन का आभाव नहीं होता है. इसलिए धनतेरस के दिन इन्हे भी घर लाये और पूजा में शामिल करे और लाल कपडे में बांधकर तिजोरी या धन वाली जगह में रख ले।

शंख सुख समृद्धि और शांति का प्रतीक है। धनतेरस के दिन शंख घर लाने से लक्ष्मी का वास होगा और इससे पूजा करते वक़्त बजाये जिससे घर के सरे अनिष्ट टल जायेंगे।

धनतेरस के दिन नमक को भी घर लाना चाहिए और दीपावली के दिन इसका इस्तमाल करना चाहिए. कहते है इससे साल भर धनआभाव नहीं होता. दीपावली के दिन इसी नमक का पोछा लगाने से दरिद्रिता दूर हो जाती है।

धनतेरस के दिन घर में धनिया भी लाना चाहिए इससे धन का आभाव नहीं होता. धनिये को पूजा के समय इस्तमाल कीजिये और दीपावली के दूसरे दिन इससे घर के गार्डन या फिर गमले में छिड़क दीजिये।

धनतेरस के दिन कुबेर की मूर्ति या तस्वीर लेकर घर के मंदिर ने रख देनी चाहिए. क्युकी कुबेर धन के देवता है उनके घर में रहने से कभी भी धन का आभाव नहीं होता।

धनतेरस के दिन सात मुखी रुद्राक्ष भी घर पे लानी चाहिए और इसकी पूजा करनी चाहिए. लक्ष्मी के सात सात ,अहदेव की कृपा भी बनी रहेगी।

maalaxmi