फिर से पैर फिसला तो टूट जाएगा : शिवसेना

[ad_1]

महाराष्ट्र विकास आघाडी सरकार के शिल्पकार राष्ट्रवादी कांग्रेस के प्रमुख शरद पवार ने मोदी से मुलाकात के दौरान हुई बातचीत का खुलासा करने के बाद अब शिवसेना ने सामना में लेख लिखकर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और अमित शाह पर निशाना साधा है. सामना में लिखा गया है कि पवार ने महाराष्ट्र के लिए क्या किया है? चुनाव प्रचार के दौरान अमित शाह बता रहे थे. अगर अमित शाह को कोई शक है तो मोदी किस अनुभव का फायदा उठाना चाहते थे. पवार का अनुभव देश के लिए काम आये इसके लिए मोदी-शाह को साढ़े पांच वर्ष लग गए. पवार का अनुभव पूरा महाराष्ट्र चख रहा है. लेकिन दिल्ली वाले नहीं चख पाए. सेठ क्या है ये ! ये महाराष्ट्र है, फिर से पैर फिसला तो टूट जाएगा।

शिवसेना के पीठ में खंजर घोंपने का नाटक-

शिवसेना का मुख्यमंत्री नहीं बने या शिवसेना के नेतृत्व में महाराष्ट्र में सरकार नहीं बने इसके लिए परदे के पीछे जो चल रहा था उस नाटक को शरद पवार ने सामने लाया। मोदी दवारा शरद पवार को दिए गए ऑफर को उन्होंने ठुकरा दिया। भारतीय जनता पार्टी का हिंदुत्व किस काम का हिंदुत्व है. शिवसेना को दबाया नहीं जा सका तो उसे दूर करने की पॉलिसी पहले भी अपने गई. शिवसेना के पीठ में खंजर घोंपने का नाटक तैयार था.

maalaxmi