Wednesday, June 29

भाई ने कहा, 'शव को न जलाएंगे न बहाएंगे, धरती मैया की गोद में दफनाएंगे'

[ad_1]

उन्नाव दुष्कर्म पीड़िता ने शुक्रवार की रात 11.40 बजे सफदरजंग अस्पताल में दम तोड़ दिया। गुरुवार(5 दिसंबर) सुबह जब वह उन्नाव स्थित अपने घर से स्टेशन के लिए निकली, तब दुष्कर्म के आरोपियों ने उसे जलाकर मारने की कोशिश की थी। वह लगभग 90 फीसदी जल चुकी थी इसलिए उसकी हालक नाजुक हो गई थी। उसे एयरलिफ्ट कर लखनऊ से दिल्ली लाया गया था।

पीड़िता की मौत के बाद अस्पताल में ही अंतिम समय तक उसके साथ रहा भाई अब मीडिया के सामने आया है। उसने पीड़िता की अंतिम इच्छा के साथ ही ये भी बताया कि उसका परिवार पीड़िता का क्रिया-कर्म कैसे करने वाला है….