Wednesday, June 29

योगी के आने तक अंतिम संस्कार नहीं

[ad_1]

उन्नाव दुष्कर्म केस की पीड़िता का आज अंतिम संस्कार किया जाना है, लेकिन पीड़िता के परिजन सीएम योगी के आने के बाद ही अंतिम संस्कार करने पर अड़े हुए हैं. पीड़िता के पिता का कहना है कि जब तक मुख्यमंत्री खुद नहीं आते, वह अपनी बेटी का अंतिम संस्कार नहीं करेंगे. हालांकि, स्थानीय स्तर पर उन्हें मनाने की कोशिश की जा रही है.

वहीं पीड़िता की बहन का कहना है कि सीएम योगी आदित्यनाथ आएं और तुरंत कुछ फैसला लें. डीजीपी ओपी सिंह ने दुष्कर्म पीड़िता का अंतिम संस्कार होने तक लखनऊ के आईजी एसके भगत को उन्नाव में ही कैंप करने को कहा है. इसके बाद स्थिति को देखते हुए आगे का निर्णय लिया जाएगा.

बता दें कि कैबिनेट मंत्री स्वामी प्रसाद मौर्य शनिवार देर शाम दोबारा पीड़िता के गांव पहुंचे. जहां उन्होंने पीड़िता के पिता को 25 लाख रुपये का चेक दिया. डीएम देवेंद्र कुमार पांडेय ने कहा कि दुष्कर्म पीड़िता के पिता को जल्द प्रधानमंत्री ग्रामीण आवास योजना के तहत पक्का आवास दिलाया जाएगा. उन्होंने आवेदन भी किया था. अभी घर के नाम पर सिर्फ कच्ची दीवारों पर छप्पर रखे हैं.

बता दें कि शुक्रवार रात उन्नाव पीड़िता ने इलाज के दौरान दिल्ली के सफदरजंग अस्पताल में दम तोड़ दिया था, लेकिन इस बेटी को इंसाफ दिलाने की लड़ाई पूरे देश में लड़ी जा रही है. पीड़िता का आज उसका अंतिम संस्कार किया जाएगा. हालांकि पीड़िता के भाई ने शनिवार को कहा था कि शव का दाह संस्कार नहीं होगा, दफन करेंगे और गांव में ही समाधि बनेगी. लेकिन अब परिवार ने मांग की है कि जब तक सीएम योगी आदित्यनाथ नहीं आएंगे अंतिम संस्कार नहीं किया जाएगा.