Wednesday, June 29

शरीर की बनावट के 10 संकेत, जो बताते है आप अमीर होंगे या नहीं…

कुंडली के माध्यम से किसी भी व्यक्ति के भूत, भविष्य, ग्रहो की दशा और राजयोग के बारे में आसानी से पता लगाया जा सकता है | लेकिन क्या आप जानते है, किसी व्यक्ति के भाग्य में मौजूद राजयोग के बारे में पता लगाने का एक अन्य तरीका भी है | दरअसल सामुद्रिक शास्त्र में शरीर की बनावट के आधार पर व्यक्ति के राजयोग के बारे मे पता लगाया जा सकता है | शरीर की बनावट के आधार पर भविष्य जानने की कला को सामुद्रिक शास्त्र कहा जाता है | आज हम आपको इसी से जुडी कुछ रोचक जानकारी देने जा रहे है |

  • सामुद्रिक शास्त्र के अनुसार जिन लोगो की छाती चौड़ी, नाक लम्बी और नाभि गहरी होती है | वे कम उम्र में ही सफलता पा लेते है, इन्हे धन की कमी का सामना नहीं करना पड़ता है |
  • जिन लोगो के पाँव के तलवे में अंकुश, कुंडल या चक्र होता है | वे अच्छे शासक, बड़े व्यापारी, राजनेता और बड़े अधिकारी बनते है |
  • जिन महिलाओ के बांये हाथ की हथेली में तिल, ध्वजा, मछली, वीणा, चक्र या कमल की आकृति होती है, वे माँ लक्ष्मी का स्वरूप मानी जाती है | ये महिलाये घर को खुशियों से भर देती है |
  • जिन लोगो की हथेली के बीचोबीच तिल होता है, उनका समाज में बड़ा मान सम्मान होता है | वहीँ जिन लोगो के तलवे में तिल, चन्द्रमा या चक्र का निशान होता है | उन्हें कई तरह के वाहनों का सुख मिलता है | साथ ही वे देशो की यात्रा करते है |
  • जिन महिलाओं या पुरुषों के पैर में कमल, बाण, रथ या सिंहासन का निशान होता है, उन्हें जीवन भर भूमि-भवन जैसी सुख-सुविधाएं मिलती हैं |
  • जिन पुरुषो की छाती पर अधिक बाल होते है, वे संतोषी प्रवृति के होते है | ये धनवान तो नहीं होते, लेकिन धन की कमी की वजह से इनका कोई काम रुकता नहीं है |
  • ऐसे बहुत कम लोग होते है, जिनके हाथो की 6 अंगुलिया होती है | ऐसे लोग बेहद ही ईमानदार और मेहनती प्रवृत्ति के होते है | इसके अलावा जिन लोगो के माथे के दाहिने हिस्से और दाहिने गाल पर तिल होता है, उनकी आर्थिक स्थिति बेहद ही अच्छी होती है |
  • जिस किसी के भी अंगूठे में यव का चिन्ह होता है, वह व्यक्ति धनवान होता है | वहीँ यदि अंगुलियों के पर्व लम्बे हो तो ये व्यक्ति के भाग्यशाली और दीर्घायु होने की निशानी होते है |
  • जिन लोगो के हथेली में मकर, ध्वज या कोष्ठ जैसी आकृति होती है, ऐसे व्यक्ति महाधनी होते है | वहीँ जिनकी हथेली में चक्र, तलवार, फरसा, तोमर, शक्ति, धनुष या भाले जैसी आकृति होती है | वे लोग सेना और पुलिस में उच्च पद पर होते है |
  • हाथ में देवमंदिर, बावली या त्रिकोण के निशान वाले लोग धर्मात्मा होते है | सामुद्रिक शास्त्र के अनुसार अंगूठे के मूल में मोटी रेखा पुत्र की और सूक्ष्म रेखा पुत्री का प्रतिनिधित्व करती है | एक बात हमेशा ध्यान रखे, राजयोग बनाने वाले निशान पुरुषो के दांये हिस्से में और महिला के बांये हिस्से में होते है |