Wednesday, June 29

सदमे में है पीड़िता के परिजन

[ad_1]

हैदराबाद में 26 साल की महिला डॉक्टर से गैंगरेप के बाद हत्या की घटना ने पूरे देश को झकझोर कर रख दिया है। इस वारदात के खिलाफ देश भर में गुस्सा देखने को मिल रहा है। इस मामले में कुछ लोग जहां आरोपियों को बीच सड़क पर मौत की सजा की डिमांड कर रहे हैं, वहीं ज्यादातर का कहना है कि आरोपियों को जल्दी से जल्दी फांसी हो। इस मामले में चारों आरोपियों को गिरफ्तार कर लिया गया है। पीड़िता एक पशु चिकित्सक थीं और तेलंगाना के दूर-दराजे के एक गांव में वह पोस्टेड थीं।

इसी गांव में काम करती थी पीड़िता-

आरोपियों ने महिला डॉक्टर के साथ हैवानियत की सारी हदें पार कर दी थी। इस घटना से पीड़िता के गांव-घर के लोग तो दुखी हैं हीं, उस गांव के लोग भी बेहद दुखी हैं जहां वह काम करती थीं। इंडिया टुडे की रिपोर्ट के मुताबिक, कोल्लूर के सरपंच पीड़िता को याद करते हुए रो पड़े। राजू पीड़िता को रोज अस्पताल से गांव के बस स्टैंड तक छोड़ते थे। वहां से, वह वापस टोल प्लाजा जातीं, यहीं पर महिला डॉक्टर अपना स्कूटर पार्क किया करती थीं। वहीं, पीड़िता के साथ काम करने वाले अटेंडेंट को सदमा लग गया है। वह घंटों तक डबडबाई आंखों से सरकारी बिल्डिंग की दीवार के सहारे खड़ा रहा, लेकिन कुछ बोल नहीं पा रहा था। इस गांव के लोग पीड़िता के अच्छे काम की तारीफ करते नहीं थक रहे।



साथ काम करने वाला अटेंडेंट है सदमे में-

असिस्टेंट वेटरनरी सर्जन के तौर पर दो साल पहले एक स्थानीय अस्पताल में महिला डॉक्टर ने काम शुरू किया था। 26 साल की महिला डॉक्टर की हर कोई तारीफ कर रहा है। इस गांव के लोग पीड़िता के साथ हुई दरिंदगी के बाद से सदमे में हैं। महिला डॉक्टर का जला हुआ शव तेलंगाना में शादनगर के बाहरी इलाके से बरामद हुआ था।