Wednesday, June 29

सबरीमाला मंदिर में फिर हुआ बवाल, अब एक बच्ची को आधार कार्ड देखकर वापस लौटाया

 केरल के प्रसिद्ध सबरीमाला मंदिर में अयप्पा भगवान के दर्शन करने जा रही एक 12 वर्ष की बच्ची को पुलिस ने रोक दिया। ऑनलाइन बुकिंग के दौरान बच्ची की आयु 10 वर्ष बताई गई थी, किन्तु पुलिस ने जब तलाशी के दौरान उसका आधार कार्ड देखा तो उसके मुताबिक बच्ची की उम्र 12 वर्ष निकली। इसके बाद उस बच्ची को पांबा कैंप से आगे नहीं जाने दिया गया, हालांकि उसका परिवार आगे बढ़ गया।

उल्लेखनीय है कि केरल के सबरीमाला स्थित भगवान अयप्पा का मंदिर के पट शनिवार को खोले गए हैं। शनिवार को मंदिर में प्रवेश करने वाली 10 महिलाओं को बाहर से ही वापस लौटा दिया गया था। महिलाओं को पांबा बेस कैंप से वापस लौटा दिया गया था, जिसका विरोध भी किया गया था। सामाजिक कार्यकर्ताओं का कहना था कि मंदिर में प्रवेश से महिलाओं को रोका जाना सर्वोच्च न्यायालय के फैसले के खिलाफ है।

आपको बता दें कि पूर्व चीफ जस्टिस गोगोई के नेतृत्व वाली पांच जजों की पीठ ने गत वर्ष केरल के सबरीमाला मंदिर में 10 से 50 वर्ष की आयु की महिलाओं के प्रवेश को लेकर ऐतिहासिक फैसला सुनाया था। पांच सदस्यीय बेंच के तीन जजों ने मंदिर में महिलाओं के प्रवेश के हक में फैसला दिया था। इस फैसले पर पुनर्विचार याचिका दायर की गई है, जिसे अब संविधान बेंच के पास सुनवाई के लिए भेजा गया है।