हैदराबाद गैंगरेपः किडनी की बीमारी से जूझ रहा एक दरिंदा, बच सकता है…

[ad_1]

हैदराबाद में वेटनरी डॉक्टर दिशा से हुई हैवानियत की घटना के बाद देशभर में उबाल है। महिलाओं के प्रति बढ़ते अपराध को लेकर जगह-जगह पर विरोध प्रदर्शन का दौर जारी है। इस बीच हैदराबाद में जघन्य घटना को अंजाम देने वाले आरोपी जेल में बंद है। जेल में बंद चार आरोपियों में से एक ने किडनी की बीमारी का इलाज मुहैया कराने की मांग की है। आरोपी चिंताकुंता चेन्नाकेशावुलू हैदराबाद की चेरलापल्ली जेल में बंद है।


मंगाए गए मेडिकल रिपोर्टस 

डायलिसिस की मांग के बाद जेल प्रशासन ने मेडिकल रिपोर्ट मंगाई है। दरअसल, नारायणपेट जिले के रहने वाले चिंताकुंता ने जेल अधिकारियों को मेडिकल चेकअप के दौरान बताया कि वह हैदराबाद के निम्स यानी निजाम इंस्टिट्यूट ऑफ मेडिकल साइंसेज में नियमित रूप से डायलिसिस करा रहा था और वह चाहता है कि यह प्रक्रिया जारी रहे।

परिजनों ने आरोपियों से काटी कन्नी 

दरिंदगी की घटना को अंजाम देने के बाद जेल में बंद चारों आरोपियों मोहम्मद आरिफ, चेन्नाकेशावुलू, जोल्लू शिवा और जोल्लू नवीन में से किसी से भी जेल में मिलने के लिए कोई परिजन नहीं पहुंचा। जेल मैनुअल के मुताबिक अंडरट्रायल कैदियों से परिवार के सदस्य मिल सकते हैं। जेल अधिकारी का कहना है, ‘आरोपी उम्मीद कर रहे थे कि परिवार के कुछ लोग उनसे मिलने आएंगे लेकिन कोई नहीं आया।’

maalaxmi