मशहूर फ्रैंच एक्टर, जिसे अपनी बहन से ही हो गया था प्यार , डिप्रेशन की वजह से खुद को मारने के लिए लगाया था मोर्फिन का इंजेक्शन।

मशहूर फ्रैंच एक्टर, जिसे अपनी बहन से ही हो गया था प्यार , डिप्रेशन की वजह से खुद को मारने के लिए लगाया था मोर्फिन का इंजेक्शन।

आप को बता दें कि साइलैंट फिल्मों के दौर में एक गोरे-चिट्टे नौजवान के पर्दे पर ठाटबाट देखकर दर्शक भी सपनों की दुनिया में खो जाते थे। ये नौजवान कोई और नहीं बल्कि फ्रेंच एक्टर मैक्स लिंडर थे। मैक्स 1910 के दौर के बेहतरीन डायरेक्टर, स्क्रीनराइटर, प्रोड्यूसर और कॉमेडियन थे।

1910 में वे दुनिया के हाईएस्ट पेड एक्टर बने। उनके नाम पर ही तकरीबन 25 फिल्में बनीं। इतना ही नहीं, देश में जंग के हालात पैदा हुए तो ये पहले वर्ल्ड वॉर में हिस्सा लेने के लिए फिल्में छोड़कर सेना में चले गए, लेकिन प्रोफेशनल लाइफ में मैक्स जितने सफल रहे, असल जिंदगी में उतने ही नाकाम।

क्रोनिक डिप्रेशन के शिकार मैक्स इतने ज्यादा शक्की थे कि पत्नी किसी और की ना हो जाए, इस डर से ही उसे मौत के घाट उतार दिया। फिर अंत में एक होटल में रहस्यमयी हालात में खुद भी मृत पाए गए। मैक्स को अपनी छोटी बहन से ही प्यार हो गया था।

मैक्स को अपनी छोटी बहन से ही हो गया था प्यार

जानकारी के लिए बता दें कि 1888 में कीडों के हमलों से इनके सारे खेत तबाह हो गए थे। इनके सारे परिवार को न्यूयॉर्क जाना पडा। लेकिन मैक्स अपनी दादी के पास गांव में रुप गए। जहां इनके तीन छोटे भाई-बहन भी थे।

 

इस तरह शुरु हुआ मैक्स का करियर

बता दें कि जब उन्होंने बचपन में गांव में आने वाली थिएटर कंपनियों को देखा, तब मैक्स को थिएटर में रुचि तब जागी। यही वजह है कि साल 1899 में मैक्स का दाखिला आर्ट स्कूल में कराया गया। उन्होंने कॉमेडी और ट्रेजडी के सब्जेक्ट में पहला और तीसरा स्थान हासिल किया। पढ़ाई पूरी होते ही वे ओलंपिया जैसी कई थिएटर कंपनियों से जुड़े।

गंभीर बीमारी होने पर लोगों ने कर दिया था मृत घोषित

बता दें कि 1910 में कामयाबी के शिखर पर मैक्स गंभीर बीमारियों की चपेट में आ गए। इसी साल उन्हें एक फिल्म प्रमोट करने के लिए 1 महीने के 10 लाख रुपए ऑफर हुए, लेकिन खराब हेल्थ के चलते उन्होंने ये ऑफर ठुकरा दिया।

उनकी तबीयत इतनी बिगड़ने लगी कि कई मीडिया हाउस ने उन्हें मृत तक घोषित कर दिया। एक साल बाद 1911 में मैक्स ने वापसी की और अपने करियर की सबसे बेहतरीन फिल्में दीं।

एक सीन से प्रेरित होकर ली पत्नी की जान

बता दें कि अक्टूबर 1925 में मैक्स अपनी पत्नी के साथ क्यो वादिस की स्क्रीनिंग में पहुंचे थे, जिसमें लीड एक्टर खुद को जख्मी कर खून ज्यादा बहने से मार लेता है। अगले दिन खबर आई की मैक्स और उनकी पत्नी ने इसी तरह खुदको मारने की कोशिश की है।

 

मॉर्फिन इन्जेक्ट कर दोनों ने एसिड पी लिया और अपनी कलाई की नसें काट लीं। हेलेन की मौके पर ही मौत हो गई और 31 अक्टूबर की रात मैक्स को गंभीर हालत में अस्पताल ले जाया गया। डॉक्टर्स ने उनकी जान बचाने की कोशिश की, लेकिन नाकाम रहे।

रहस्य रह गई मौत

मैक्स लिंडर की मौत के बाद कई तरह के सवाल खड़े हुए। कुछ ने कहा कि मैक्स ने पत्नी पर शक करते हुए पहले उसकी हत्या की और फिर खुदकुशी की, वहीं कुछ ने कहा कि दोनों ने पहले की तरह मिलकर आत्महत्या की। इन सबके बावजूद हर किसी का मानना था कि हेलेन खुद अपनी नस नहीं काट सकती थीं।

navneet