लाठी का सहारा, हाथ में दो रोटी, आंखों में आंसू लेकर 70 साल की महिला पहुंची थाने, पुलिसकर्मी भी हुए भावुक।

लाठी का सहारा, हाथ में दो रोटी, आंखों में आंसू लेकर 70 साल की महिला पहुंची थाने, पुलिसकर्मी भी हुए भावुक।

लाठी का सहारा… हाथ में दो रोटी …और आंखों में आंसू… यह सबकुछ देखने को मिला बुधवार को मध्य प्रदेश के राजगढ़ जिले के खिलचीपुर थाने में. यहां 70 साल की एक लाचार मां अपने बेटे और बहू की शिकायत लेकर आई थी.

बेटे और बहू ने मारपीट कर उसे घर से बाहर निकाल दिया है. उसका कहना है कि खाना मांगने पर बेटे-बहू थप्पड़ मारते हैं. थाने में सबसे पहले वृद्धा को खाना खिलाया गया, फिर उसकी पूरी बात सुनकर बेटे और बहू के खिलाफ शिकायती आवेदन लिया गया.

थाने पहुंचकर क्या कहा

हाथ में दो रोटी लेकर फटेहाल जिले के खिलचीपुर थाने में जैतपुरा खुर्द से लाठी के सहारे पैदल 70 वर्षीय महिला थाने पहुंची और बोली साहब मुझे बेटा और बहु थप्पड़ मारते हैं. खाना भी नहीं देते, टीआई ने खाना खिलाकर महिला की शिकायत पर मामला दर्ज किया है.

 

यह मामला राजगढ़ जिले के खिलचीपुर का है, जहां जैतपुरा खुर्द गांव की 70 वर्षीय रोड़ी बाई पति स्वर्गीय जगन्नाथ वर्मा लाठी के सहारे थाने पहुंची थी.

कितनी है जमीन

वह साथ में पॉलिथीन में लपेटकर दो रोटी भी लाई थी. थाना प्रभारी मुकेश गौड़ को उसने बताया कि साहब मेरे दो बेटे हैं. छोटा रामबाबू और उसकी पत्नी रेखा बाई पचोर में रहते हैं.

बड़ा बेटा राधेश्याम और पत्नी अयोध्या बाई जैतपुरा गांव में ही मेरे साथ रहते हैं. मेरे पास दो बीघा जमीन है, जिसका जिम्मा राधेश्याम के पास ही है.

 

जमीन और गहने छीन लिए

महिला ने आगे बताया, बेटे ने जमीन और बहू ने मेरे पैर के तीन पाव के चांदी के कड़े छीन लिए. वृद्धावस्था पेंशन भी बेटा ही रख लेता है. इस उम्र में भी वह मारपीट करता है.

खाना मांगने पर बुधवार को बेटे ने थप्पड़ जड़ दिया. वृद्धा की दर्दभरी दास्तां सुनने के बाद थाना प्रभारी मुकेश गौड़ ने पहले उसे खाना खिलाया, फिर बेटे सहित बहु के खिलाफ मामला दर्ज किया.

Prakash Mali