KBC में 5 करोड़ जीतने के बाद सुशील कुमार की जिंदगी हो गयी थी बर्बाद, पत्नी ने भी छोड़ा साथ

KBC में 5 करोड़ जीतने के बाद सुशील कुमार की जिंदगी हो गयी थी बर्बाद, पत्नी ने भी छोड़ा साथ

रियलिटी शो ‘कौन बनेगा करोड़पति’ का नया सीजन 23 अगस्त से शुरू हो रहा है। सोनी टीवी पर आने वाला ये शो अमिताभ बच्चन द्वारा होस्ट किया जाता है और इस शो में सवालों का सही जवाब देकर करोड़ पति बना जा सकता है। इस शो को कई सारे करोड़पति भी मिले हैं लेकिन आज तक हर किसी को बस सुशील कुमार ही याद है। दरअसल सुशील कुमार ने इस शो में 5 करोड़ रुपए जीते थे। बिहार के सुशील कुमार ज्यादा पढ़े लिखे नहीं थे। लेकिन फिर भी हर सवाल का जवाब सही देकर ये 5 करोड़ की राशि जीत गए थे। हालांकि सुशील कुमार की किस्मत ने इनका साथ नहीं दिया और इतनी राशि जीतने के बाद भी आज ये गरीबी में जी रहे हैं।

KBC 5 में बिहार के सुशील कुमार ने 5 करोड़ जीते थे। सुशील कुमार के अनुसार उनकी जिंदगी का सबसे बुरा समय शो जीतने के बाद ही शुरू हुआ था। सुशील कुमार ने पिछले साल फेसबुक के जरिए अपने बुरे वक्त का जिक्र किया था और लिखा था कि, ‘2015-16 का समय मेरे जीवन का सबसे चुनौतीपूर्ण समय था। उस वक्त कुछ समझ नहीं आ रहा था। मुझे महीने में 10-15 दिनों तक बिहार में कार्यक्रम में शामिल होना पड़ता था। ऐसे में पढ़ाई धीरे-धीरे दूर हो गई। मैं बिना अनुभव के ही नए नए बिजनेस करता था। जिससे मीडिया को बता सकूं कि मैं बेकार नहीं हूं। लेकिन बिजनेस कुछ दिनों में डूब जाते थे।

दिल्ली मे मैंने अपने दोस्त के साथ कुछ कार लेकर चलवानी शुरू की। इस काम से मुझे महीने में कुछ दिनों के लिए दिल्ली आना होता था। इस दौरान मेरी पहचान JNU के स्टूडेंट्स से हुई। उन लोगों से मिलकर पता चला कि मैं तो कुएं का मेंढक हूं, जिसे बहुत सारी बातों की जानकारी नहीं थी।

सुशील के अनुसार केबीसी जीतने के बाद मुझे डोनेशन का चस्का लग गया और मैं हर महीने 50 हजार रुपए दान में देता था। इस दौरान लोग ने मुझे खूब ठगा।  KBC जीतने के बाद इनके रिश्ते पत्नी से भी बिगड़ गए। इनके अनुसार “मेरे और पत्नी के संबंध धीरे धीरे खराब होते जा रहे थे। वो अक्सर कहा करती थी कि आपको सही-गलत लोगों की पहचान नहीं है और भविष्य की कोई चिंता नहीं है। ये सुनकर मुझे लगता था कि वो मुझे नहीं समझती जिस कारण दोनों में खूब झगड़े होते थे।

“एक दिन पत्नी से झगड़े के बाद मैं टहल रहा था, इसी दौरान अंग्रेजी अखबार के पत्रकार का फोन आया। कुछ देर अच्छे से बात करने के बाद उन्होंने कुछ ऐसा पूछा जिससे मैं चिढ़ गया। मैंने कह दिया कि मेरे सभी पैसे खत्म हो गए हैं और दो गाय पाली हैं। जिनका दूध बेचकर गुजारा कर रहे हैं। इस खबर को जो असर हुआ उससे सभी वाकिफ हैं।” इस खबर के बाद चालू लोगों ने मुझसे किनारा करना शुरू कर दिया। मुझे प्रोगामों में बुलाना बंद कर दिया।

सुशील के अनुसार मैं सभी अवॉर्ड विनिंग फिल्में देखता था। जिससे मुझे डायरेक्टर बनने का मन हुआ। मैं मुंबई आ गया। एक दोस्त में मुझे टीवी के प्रोडक्शन हाउस में काम दिलवाया। जिससे मैं बहुत जल्दी बोर हो गया और वापस घर आ गया।सुशील के अनुसार “मैं दिनभर सिगरेट पीता था।

मुझे एहसास हुआ, मैं मुंबई में कोई डायरेक्टर बनने नहीं आया था। मैं एक भगोड़ा हूं। जो सच्चाई से भाग रहा है। असली खुशी अपने मन का काम करने में है। घमंड को कभी शांत नहीं किया जा सकता। बड़े होने से हजार गुना ठीक है, अच्छा इंसान होना। खुशियां छोटी-छोटी चीजों में छुपी होती है।

admin