राहुल द्रविड के करियर को महत्व देने के लिए पत्नी डॉक्टरी छोड बन गई थी हाउसवाइफ, बेहद दिलचस्प है राहुल द्रविड़ और पत्नी विजेता की लव-स्टोरी!!

राहुल द्रविड के करियर को महत्व देने के लिए पत्नी डॉक्टरी छोड बन गई थी हाउसवाइफ, बेहद दिलचस्प है राहुल द्रविड़ और पत्नी विजेता की लव-स्टोरी!!

आप तो जानते ही होंगे कि राहुल द्रविड भारतीय टीम के कोच है। द वॉल के नाम से मशहूर राहुल द्रविड ने अपनी कई शानदार पारियों से भारत को जीत दिलाई है। उनकी बल्लेबाजी के साथ साथ उनके स्वभाव की भी खूब चर्चा रही है।

राहुल द्रविड की लव स्टोरी भी काफी दिलचस्प रही है। वे अक्सर अपने प्रदर्शन के कारण सुर्खियों में रहे है। तो आइए आज हम उनकी प्रेम कहानी के बारे में विस्तार से जानते है।

राहुल द्रविड ने इस तरह किया था प्रपोज

बता दें कि राहुल द्रविड अपनी पर्सनल लाइफ को निजी रखना काफी पसंद करते है। राहुल द्रविड और उनकी पत्नी विजेता की लव स्टोरी थोडा फिल्म की तरह है। राहुल द्रविड की पत्नी विजेता के पिता एक रिटायर विंग कमांडर है, वहीं उनकी माता एक डायटीशियन है।

 

उनकी रिटायरमेंट के बाद उनका परिवार नागपुर में रहने लगा, जिसके बाद यहां से विजेता ने नवंबर 2002 में अपना एमएस पूरा किया। दरअसल द्रविड औऱ विजेता की फैमिली 35 वर्षों से एक-दूसरे को जानते थे। विजेता की फैमिली साल 1968 और 1971 के बीच बेंग्लौर में रहती थी औऱ दोनों की दोस्ती यही से शुरु हुई थी।

जिसके बाद राहुल के पिता शरद और उनकी फैमिली नागपुर में रहने लगे। विजेता के नागपुर आने के बाद राहुल अक्सर उनसे मिलने जाया करते थे औऱ दोनों एक-दूसरे प्यार करने लगे। जिसके बाद एक दिन राहुल ने विजेता से शादी के लिए प्रपोज किया और विजेता मना नहीं कर पाई।

 

दोनों के परिवार वाले भी इस रिश्ते से खुश थे। हालांकि, विजेता और राहुल द्रविड की शादी साल 2002 में होने वाली थी, लेकिन साल 2003 में राहुल को वर्ल्डकप दौरे पर जाना था। जिसके लिए काफी तैयारियां बाकी थी। ऐसे में दोनों परिवार वालों ने शादी की डेट को आगे बढा दिया।

जिसकी वजह से राहुल अपना पूरा ध्यान अपने खेल पर दे सकें। हालांकि वर्ल्ड कप से पहले राहुल और विजेता ने सगाई कर ली थी। विजेता सगाई के बाद राहुल को वर्ल्डकप में चीयर करने दक्षिण अफ्रीका भी पहुंची थी।

शादी के बाद विजेता ने छोड दी थी डॉक्टरी

आप को बता दें कि राहुल द्रविड ने विजेता को कुछ भी करने से नहीं रोका। उन्होंने अपनी पत्नी को अपने सपने पूरे करने की आजादी दे रखी थी। लेकिन विजेता ने अपने सपनों की जगह राहुल के करियर को महत्व दिया। जिसके बाद उन्होंने डॉक्टरी छोडकर हाउस वाइफ बनने का फैंसला किया।

 

साल 2005 में राहुल और विजेता माता-पिता बने। उन्हें एक बेटा हुआ, जिसका नाम समित द्रविड है। वहीं साल 2009 में विजेता ने दूसरे बेटे अन्वय को जन्म दिया। राहुल को कई अवसरों पर अपने दोनों बेटों और पत्नी विजेता के साथ देखा जा सकते है।

navneet