पुलिस ऑफिसर बनकर अपने स्कूल पहुंचा शख्स, टीचर के छुए पैर तो खुशी से दिया 1100 रुपये का इनाम।

पुलिस ऑफिसर बनकर अपने स्कूल पहुंचा शख्स, टीचर के छुए पैर तो खुशी से दिया 1100 रुपये का इनाम।

मित्रों जैसा की आप सभी अवगत होगें कि हमारे जीवन में शिक्षा अत्यधिक महत्व रखती है, हालाकि पहले के समय से ही हमारे देश में शिक्षा का बड़ा ही महत्व रहा है। वहीं शिक्षा प्रदान करने के लिये गुरू का सर्वोच्च स्थान है, इसलिए जीवन में कभी उस गुरू को भूलना नहीं चाहिए।

जिसने जीवन में कुछ सिखाया हो। क्योंकि फर्क नहीं पड़ता कि हम कितने सफल हैं या कितने असफल। फर्क पड़ता है तो केवल इससे कि हमने अपना व्यक्तित्व कितना ऊंचा किया है।

और इसमें जो सफल हो गया उसे हर कोई सलाम करता है। इसी क्रम में आज हम एक ऐसे शख्स की बात करने वाले है जो अधिकारी बनकर भी नही भूले अपने संस्कार और स्कूल पंहुच कर अपने गुरू के छुए पैर।

 

आपको बता दें कि बच्चों की जमीनी स्तर की शिक्षा घर और घर के बाद स्कूल से ही शुरू होती है। बच्चा पढ़ लिखकर अपना भविष्य संवार सके इसके लिए शिक्षक क्लास में बच्चों के साथ खुद भी मेहनत करते हैं। क्लास में डांट भी लगाते हैं और समझाते भी हैं।

एक शिक्षक हमेशा यही चाहता है कि उनका पढ़ाया हुआ स्टूडेंट बड़ा होकर किसी अच्छी पोस्ट में पहुंचकर परिवार का और स्कूल का नाम रौशन करे। जब टीचर का सपना पूरा होता है तो परिवार और टीचर के साथ-साथ पूरा स्कूल गौरान्वित हो जाता है।

सोशल मीडिया पर हाल ही में एक वीडियो वायरल हुआ था, जिसमें एक पुलिस ऑफिसर स्कूल टीचर के पैर छूते हैं। शिष्य द्वारा गुरू को दिए इस सम्मान को देख हर कोई भावुक हो उठा।

 

आपकी जानकारी के लिये बता दें कि वायरल हो रहे वीडियो में पुलिस की वर्दी पहने हुआ ये पुलिस ऑफिसर स्कूल के स्टूडेंट रह चुके हैं। जब वह ऑफिसर बनकर स्कूल पहुंचे तो नजारा देखने लायक था। उन्हें देखकर सभी बेहद खुश हो जाते हैं। सबसे ज्यादा खुश टीचर होती हैं।

वह नए स्टूडेंट को ऑफिसर स्टूडेंट से मिलवाती हैं। टीचर अपने स्टूडेंट से मिलकर उन्हें 1100 रुपए इनाम में देती हैं। टीचर ने कहा- इसने न सिर्फ देश का नाम रौशन किया, बल्कि समाज और माता-पिता का भी नाम रौशन किया है। ऐसे तुम्हें भी बनना है और तुम्हे भी सम्मान मिलेगा।

क्लास में मौजूद बच्चे तालियां बजाते हैं। लोग इस वीडियो को देखकर जमकर ऑफिसर की तारीफ कर रहे हैं। यूजर्स का कहना है कि गुरु का स्थान तो सर्वोच्च है। इस वीडियो को देखकर हर कोई यही कह रहा है कि एक बार वक्त निकालकर अपने बचपन को ताजा कर लेना चाहिए।

Prakash Mali