आखिर क्यों आमिर खान ने 6-7 साल तक नहीं की थी जूही चावला से बात, इसके पीछे की वजह जानकर हैरान रह जाएंगे।

आखिर क्यों आमिर खान ने 6-7 साल तक नहीं की थी जूही चावला से बात, इसके पीछे की वजह जानकर हैरान रह जाएंगे।

आप तो जानते ही होंगे कि आमिर खान बॉलीवुड में ‘मिस्टर परफेक्शनिस्ट’ के नाम से जाने जाते है। आज हम आप को बॉलीवुड मशहूर अभिनेत्री जूही चावला और आमिर खान के बीच हुए विवाद के बारे में बताने जा रहे है।

आखिर क्यों 7 सालों तक आमिर खान और जूही चावला ने एकदूसरे से नहीं थी बात

आप को बता दें कि सुपरहिट फिल्म से बॉलीवुड में अपने करियर की शुरुआत करने वाले आमिर खान ने जूही चावला से करीब छह-सात साल तक बात नहीं की थी।

आप तो जानते ही होंगे कि आमिर और जूही 90 के दशक के सुपर हिट जोड़ियों में से एक थे, आमिर खान ने सुपरहिट फिल्म ‘कयामत से कयामत तक’ से बॉलीवुड में डेब्यू किया तो जूही चावला ने फिल्म सल्तनत से फिल्म इंडस्ट्री में डेब्यू किया था। इसके बाद दोनों ने कई हिट फिल्में साथ कीं।

 

जब आमिर खान और जूही चावला की हुई थी लडाई

आमिर खान ने एक इंटरव्यू के दौरान बताया कि, फिल्म ‘इश्क’ की शूटिंग के दौरान हमारी छोटी सी बहस हो गई थी। लड़ाई छोटी थी लेकिन मुझे लगता है, उस दौरान में थोड़ा घमंडी था। मैंने फैसला किया कि मैं उनसे से कभी बात नहीं करूंगा। सेट्स पर भी मैं उससे दूरी बनाए रखता। मुझे नहीं पता कि मैंने ऐसा क्यों किया।

सेट पर जूही से 50 फीट की दूरी बनाए रखते थे आमिर खान

आमिर खान ने आगे कहा, ‘जब वह आती और मेरे पास बैठती तब भी मैं बाहर निकल जाता। हंसते हुए आमिर ने कहा, मैं जूही से कम से कम 50 फीट दूर बैठता था। मैंने कभी भी उनके अभिवादन का जवाब नहीं दिया, ना ही कभी मैंने पहल की। सिर्फ शूटिंग के समय हमारा बात करना जरूरी था, तो मैं सिर्फ प्रोफेशनली जूही से बात करता था।’

एक्टर ने कहा, ‘हमने करीब छह-सात साल तक बात नहीं की। लेकिन जब 2002 में रीना दत्ता संग मेरे तलाक की खबर मिली तब उन्होंने मुझे फोन किया और मिलने के लिए कहा।’

 

पत्नी से तलाक होने के बाद आमिर को किया फोन

आमिर बताते हैं, ‘जूही शुरू से ही मेरे और रीना के करीब रही थी, वह हमारे मतभेदों को सुलझाना चाहती थी। जूही को शायद पता था कि मैं उसका फोन शायद ना उठाऊं, लेकिन फिर भी उसने मुझे फोन किया। इस बात ने मुझे छू लिया और मैं जानता था कि हमारी दोस्ती कभी टूटी नहीं थी। हम शायद बात नहीं करते थे लेकिन एक दूसरे का ख्याल फिर भी रखते थे।’

navneet